Get all popular news in one place from different sources

Ravichandran Ashwin Vs Muttiah Muralitharan Bowling Record Update; Chance To Complete | 77वें टेस्ट में 400 विकेट पूरे करने का मौका, इनसे तेज सिर्फ मुथैया मुरलीधरन रहे हैं

3

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें Popular News ऐप

अहमदाबाद6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

टीम इंडिया के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन इंग्लैंड के खिलाफ 24 फरवरी से शुरू हो रहे तीसरे टेस्ट मैच के दौरान 400 विकेट का माइलस्टोन छू सकते हैं। अगर ऐसा होता है तो वे श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन के बाद सबसे तेजी से 400 विकेट तक पहुंचने वाले गेंदबाज बन जाएंगे। मुरलीधरन ने 72वें टेस्ट में 400 विकेट पूरे किए थे। अश्विन ने अब तक 76 टेस्ट मैचों में 394 विकेट लिए हैं।

भारतीय रिकॉर्ड अनिल कुंबले के नाम
टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेजी से 400 विकेट तक पहुंचने का भारतीय रिकॉर्ड पूर्व लेग स्पिनर अनिल कुंबले के नाम है। कुंबले ने 85वें टेस्ट में 400 विकेट पूरे किए थे। कुंबले ओवरऑल पांचवें स्थान पर हैं। मुरलीधरन के बाद न्यूजीलैंड के रिचर्ड हैडली (80वां टेस्ट), साउथ अफ्रीका के डेल स्टेन (80वां टेस्ट) और श्रीलंका के रंगना हेराथ (84वां टेस्ट) का नंबर आता है।

नंबर-1 एक्टिव स्पिनर बन जाएंगे अश्विन
अश्विन अगर मोटेरा में अपना 400वां विकेट पूरा कर लेते हैं तो वे मौजूदा समय में सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट लेने वाले एक्टिव स्पिनर बन जाएंगे। अभी खेल रहे स्पिनर्स में ऑस्ट्रेलिया के नाथन लायन सबसे आगे हैं। लायन ने 100 टेस्ट मैचों में 399 विकेट लिए हैं। लायन भारत-ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज के दौरान 400 विकेट पूरा करने के करीब थे लेकिन वे एक विकेट दूर रह गए। ऑस्ट्रेलिया का साउथ अफ्रीका दौरा रद्द होने से लायन का इंतजार बढ़ गया है।

अश्विन के सबसे धीमे 100 विकेट
अश्विन ने टेस्ट करियर में अपना 100वां विकेट 18वें मैच में लिया था। 100 से 200 विकेट तक पहुंचने में उन्हें 19 टेस्ट लगे। 200 से 300 विकेट तक पहुंचने के लिए उन्होंने सिर्फ 17 टेस्ट लिए थे। 54वें टेस्ट में उन्होंने 300 विकेट पूरे कर लिए थे। इस तरह अश्विन सबसे धीमी गति से आखिरी 100 विकेट पूरे करेंगे। 300वां विकेट लेने के बाद से वे 22 टेस्ट मैच और खेल चुके हैं।

भारत में ले चुके हैं 271 विकेट
अश्विन ने 394 विकेटों में से 271 विकेट भारत में लिए हैं। घरेलू मैदानों पर उन्होंने 45 टेस्ट मैच खेले हैं। भारतीय पिचें स्पिनर्स के लिए ज्यादा मददगार होती हैं, लिहाजा अश्विन को यहां अधिक कामयाबी मिलती है। भारत में उन्होंने 22.49 के औसत से विकेट लिए हैं। अश्विन ने इससे बेहतर औसत सिर्फ श्रीलंका और बांग्लादेश में हासिल की है। श्रीलंका में उन्होंने 6 टेस्ट मैचों में 21.57 की औसत से 38 विकेट लिए हैं। वहीं, बांग्लादेश में 1 टेस्ट में उनके नाम 19 की औसत से पांच विकेट हैं।

इस साल तोड़ सकते हैं हरभजन सिंह का रिकॉर्ड
अश्विन के पास इसी साल हरभजन सिंह से आगे निकलने का मौका है। हरभजन ने अपने टेस्ट करियर में 103 टेस्ट मैचों में 417 विकेट लिए हैं। ऐसा होने पर वे भारत के तीसरे सबसे सफल गेंदबाज और दूसरे सबसे सफल स्पिनर बन जाएंगे। भारत की ओर से सबसे ज्यादा विकेट लेग स्पिनर अनिल कुंबले (132 टेस्ट में 619 विकेट) ने लिए हैं। तेज गेंदबाज कपिल देव (131 टेस्ट में 434 विकेट) दूसरे स्थान पर हैं।

Source link

You might also like